0

Dil lagane ki saja

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है;ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है;हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू;ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है। हम उम्मीदों की दुनियां बसाते रहे;वो भी पल पल… Continue Reading

0

Dard-e-Dil

मुस्कुराने से भी होता है दर्द-ए-दिल बयां,किसी को रोने की आदत हो ये जरूरी तो नहीं।Muskurane Se Bhi Hota Hai Dard-e-Dil Bayaan,Kisi Ko Rone Ki Aadat Ho Ye Jaroori To Nahi.

0

Pyar me bikharna

जो नजर से गुजर जाया करते हैं;वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं;कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।